विश्वकर्मा योजना को मोदी कैबिनेट ने दी मंजूरी, इन लोगों को होगा बड़ा फायदा

PM Vishwakarma Scheme: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 77वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लाल किले से देश को संबोधित करते हुए 'विश्वकर्मा योजना' का ऐलान किया। जिसे बुधवार को मोदी कैबिनेट ने अपनी मंजूरी भी दे दी है। जिसमें करीब 13 से 15 हजार करोड़ रुपये लगाए जाएंगे।
 
PM Vishwakarma Scheme
Image Credit : Google

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कारीगरों और शिल्पकारों को बड़ी खुशखबरी देते हुए 'विश्वकर्मा योजना' का ऐलान किया है। उन्होंने इस योजना का ऐलान 15 अगस्त को 77वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लाल किले से देश को संबोधित करते हुए किया था। जिसे बुधवार को मोदी कैबिनेट ने अपनी मंजूरी भी दे दी है। बता दें कि इस पूरी योजना का नाम 'विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना' या 'पीएम विकास योजना' (PM Vishwakarma Kaushal Samman Yojana-PM Vikas Yojana) है। जिसमें करीब 13 से 15 हजार करोड़ रुपये लगाए जाएंगे। 

विश्वकर्मा पूजा के दिन होगी लॉन्च

पीएम मोदी की विश्वकर्मा योजना खास शैली में पारंगत स्किल्ड कामगारों के लिए होगी। जिसे 17 सितंबर 2023 को विश्वकर्मा पूजा के मौके पर लॉन्च किया जाएगा। इससे पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक फरवरी को आम बजट पेश करने के दौरान कारीगरों और शिल्पकारों के लिए इस योजना की घोषणा की थी। 

विश्वकर्मा योजना का मुख्य उद्देश्य

विश्वकर्मा योजना के तहत न सिर्फ आर्थिक मदद दी जानी है, बल्कि इसमें ट्रेनिंग, मॉडर्न टेक्नोलॉजी के बारे में बताना और ग्रीन तकनीक, ब्रांड का प्रमोशन, स्थानीय और वैश्विक बाजारों से जुड़ाव के साथ डिजिटल पेमेंट्स और सामाजिक सुरक्षा की भी बात शामिल है। योजना का मुख्य उद्देश्य स्किल ट्रेनिंग, टेक्नोलॉजी और वित्तीय सहायता उपलब्ध कराकर देशभर में मौजूद कारीगरों और शिल्पकारों की क्षमताओं को बढ़ावा देना है। 

इन्हें मिलेगा योजना का लाभ

विश्वकर्मा योजना के तहत कुशल कारीगरों को एमएसएमई से भी जोड़ा जाएगा, जिससे कि उन्हें बेहतर बाजार मिल सके। योजना का सबसे ज्यादा लाभ अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, ओबीसी, महिलाएं और कमजोर वर्ग को मिलेगा। इसके अलावा बढ़ई, सोनार, मूर्तिकार और कुम्हार आदि क्षेत्रों में काम करने वाले लोगों को भी यह योजना लाभ देगी। 

विश्वकर्मा योजना की खास बातें

प्रधानमंत्री की विश्वकर्मा योजना के तहत नए स्किल्स, टूल्स, क्रेडिट सपोर्ट और मार्केट सपोर्ट दिया जाएगा। इसके लिए दो तरह की स्किल ट्रेनिंग होगी- बेसिक और एडवांस। योजना के जरिए मोदी सरकार मॉडर्न टूल्स खरीदने के लिए 15,000 रुपये का सपोर्ट देगी। साथ ही एक लाख रुपये तक का लोन दिया जाएगा। जिसपर अधिकतम 5% का ब्याज होगा। एक लाख के सपोर्ट के बाद अगले ट्रांच में 2 लाख तक का लोन मिलेगा। वहीं ब्रांडिंग, ऑनलाइन मार्केट एक्सेस जैसा सपोर्ट दिया जाएगा।

Tags

Share this story