जानें कितने प्रकार के होते हैं इंश्योरेंस फ्रॉड, कैसे बचा जा सकता है इनसे

Insurance Frauds: कई बार इंश्योरेंस के बारे में समझना कई बार मुश्किल हो जाता है। यही कारण है कि कई बार लोगों को पता भी नहीं लगता कि उनके साथ इंश्योरेंस फ्रॉड के शिकार हो रहे हैं।
 
Insurance Frauds

रिटायरमेंट के बाद एक अच्छी लाइफ जीने के लिए लोग इंश्योरेंस लेते हैं। यह कई तरह के होते हैं। लेकिन इन्हें लेते समय कई कार लोग फ्रॉड का शिकार बन जाते हैं। साफ शब्दों में कहें तो इंश्योरेंस एक प्रोडक्ट है, जिसके बारे में समझना कई बार मुश्किल हो जाता है। यही कारण है कि कई बार लोगों को पता भी नहीं लगता कि उनके साथ इंश्योरेंस फ्रॉड के शिकार हो रहे हैं। आज हम आपको इसी के बारे में बताएंगे कि इंश्योरेंस फ्रॉड कितने प्रकार के होते हैं और आप इनसे कैसे बच सकते हैं।

ऑनलाइन फेक पॉलिसी

आजकल ऑनलाइन माध्यम से इंश्योरेंस की प्रकिया को पूरा किया जाता है। लेकिन आपको बता दें कि यह जालसाजों की ओर से लोगों को फ्रॉड का शिकार बनाने का सबसे आम और बेहद आसान तरीका है। इसमें जालसाज लोगों को फोन या ईमेल आदि के जरिए ऑनलाइन फेक पॉलिसी बेचते हैं। 

नकली पॉलिसी बेचना

कई बार ठगी करने वाले इंश्योरेंस एजेंटों की ओर से कवरेज, बेनिफिट और प्रीमियम आदि के बारे में गलत जानकारी देते हुए नकली पॉलिसी को बेचा जाता है। जिससे लोग ठगी का शिकार बन जाते हैं। 

फ्री लोन देना

पॉलिसी बेचने के लिए कई बार जालसाजों की ओर से ब्याज फ्री लोन का भी वादा ग्राहकों से किया जाता है, जिससे कि पॉलिसी को बेचा जा सके।

प्रीमियम कलेक्ट करना

अक्सर देखा जाता है कि इंश्योरेंस एजेंट ग्राहकों से प्रीमियम को कलेक्ट कर लेते हैं। लेकिन इसे व ह कंपनी को जमा नहीं कराते हैं। इस तरह के फ्रॉड के मामले अधिकतर पॉलिसी का ऑफलाइन भुगतान करने वाले लोगों के साथ देखने देखा जाता है। 

अधिक रिटर्न का वादा

कई बार जालसाजों की ओर से इंश्योरेंस प्रोडक्ट्स को इन्वेटमेंट प्रोडक्ट्स बताकर बेच दिया जाता है। इसके जरिए लोगों को अधिक रिटर्न देने का वादा किया जाता है। इस लालच में लोग पॉलिसी खरीद लेते हैं और ठगी का शिकार बन जाते हैं। 

नकली क्लेम करना

अक्सर यह भी देखा जाता है कि जालसाजों की ओर से पॉलिसी डॉक्यूमेंट में जालसाजी करके क्लेम ले लिया जाता है। इससे होता ये है कि असली पॉलिसीधारक को समय आने पर पॉलिसी का कोई लाभ नहीं मिलता है।

इंश्योरेंस फ्रॉड से बचने का तरीका

. किसी भी प्रकार के इंश्योरेंस फ्रॉड से बचने के लिए थोड़ा सजग रहें। 
. इंश्योरेंस प्रोडक्ट को खरीदते समय पहले पूरे पेपर पढ़ लें और नियम व शर्तों को अच्छे से जान लें।
. जिस इंश्योरेंस प्रोडक्ट को खरीद रहे हैं उसके बारे में रिसर्च जरूर करें।
. अगर कोई थर्ड पार्टी, सेल्सपर्सन या एजेंट आपको पॉलिसी खरीदने के लिए संपर्क कर रहा है, तो आईडी कार्ड देखकर उसे वेरिफाई करें।
. पॉलिसी भुगतान के लिए ऑनलाइन पेमेंट के विकल्प को चुनें।

Tags

Share this story