ISRO में साइंटिस्ट बनने के लिए क्या पढ़ाई लिखाई करनी होती है, यहां जाने डिटेल में

इसरो में साइंटिस्ट बना एक बहुत ही महत्वपूर्ण और सम्मान की बात है.
 
ISRO
ISRO | Instagram

ISRO Scientist Qualification: चंद्रयान 3 के चांद पर पहुंचने के बाद पूरी दुनिया में ISRO की सराहना हो रही है. इसरो के साइंटिस्ट्स ने पूरी दुनिया में भारत का नाम ऊंचा किया है. इसरो में साइंटिस्ट बना एक बहुत ही महत्वपूर्ण और सम्मान की बात है, लेकिन इस राह पर कदम बढ़ाना के लिए आपको काफी कठिनाइयों से गुजरना होगा और आपको काफी मेहनत की आवश्यकता है. 

ISRO में साइंटिस्ट बनने के लिए क्या पढ़ाई करनी होती है?

अगर आप भी इसरो में साइंटिस्ट बनने का सपना देखते हैं तो आप इसरो और बेंगलुरु में स्थित आईआईएससी में कोर्स कर सकते हैं. साइंटिस्ट बनने के लिए आपको दसवीं क्लास के बाद फिजिक्स केमिस्ट्री बायोलॉजी और मैथ जैसे सब्जेक्ट चुनना जरूरी है. स्पेस साइंटिस्ट बनने के लिए आपको 3 साल बीएससी और 4 साल के बीटेक से लेकर पीएचडी का कोर्स करना होगा. अगर आप इसरो में साइंटिस्ट बनने का सपना देखते हैं तो आपको इंजीनियरिंग या साइंस विषय में पढ़ाई करनी होगी. यह नौकरी पाने के लिए आपको मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल या कंप्यूटर साइंस में इंजीनियरिंग पास करनी होगी. 

अगर आपको इस पोजीशन के लिए अप्लाई करना है तो कम से कम आपके अंक 65 पर्सेंट होने चाहिए या फिर 6.84 सीजीपीए के साथ बीई या बीटेक पास होना चाहिए. अगर आपको 12वीं क्लास के बाद इसरो में शामिल होना है तो इसके लिए आपको जीईई एडवांस्ड, किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना या आईआईएसईआर और से आयोजित किया गया सेंट्रल बोर्ड बेस्ट एप्टीट्यूड टेस्ट पास करना होगा. इसरो में साइंटिस्ट के तौर पर शुरुआत करने के बाद आपको 1 लख रुपए तक का वेतन मिलता है.

Tags

Share this story