Muzaffarnagar: मदरसों में धूमधाम से मनाई गई आजादी की 77वीं  वर्षगांठ, बच्चों और बुज़ुर्गों ने मिलकर किया ध्वजारोहण 
 

मदरसों के तलबाओ को देश हित मे कार्य करने का सन्देश भी मदरसा संचालको द्वारा दिया गया।
 
Muzaffarnagar
The Vocal News

Muzaffarnagar: पूरा देश आजादी की 77 वी वर्षगांठ को बड़ी धूमधाम से मना रहा है जहाँ सरकारी दफ्तरो शिक्षण संस्थानों मे ध्वजारोहण कर आजादी का जश्न  बड़ी धूमधाम से मनाया जा रहा है, वहीं  मदरसों मे भी तिरंगा झंडा फहराकर राष्ट्रीय गान गाया गया साथ ही देश भक्ति के तराने मदरसे के तलबाओ को सुनाते हुए स्वतंत्रता दिवस को बड़ी धूमधाम के साथ मनाया। मदरसों के तलबाओ को देश हित मे कार्य करने का सन्देश भी मदरसा संचालको द्वारा दिया गया। थाना सिविल लाइन क्षेत्र के सरवट रोड  पर स्थित मदरसा महमुदिया में 77 वा स्वतंत्रता दिवस बड़ी धूम धाम से मनाया। मदरसे के हाफिज से लेकर मौलवी व तलबाओ ने तिरंगे के साथ सेल्फी ली और अपने सोशल मीडिया पर वायरल की।

 क्या बोले मौलाना अब्दुल कयूम कासमी?


महमुदिया मदरसा सरवट के प्रिंसिपल मौलाना अब्दुल कयूम कासमी ने जानकारी देते हुए बताया की हिंदुस्तान जो 15 अगस्त 1947 मे आजाद हुआ और ये हमारे  हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई सब मजहब वालों ने जो कुबानियां  पेश की थी, आजादी के लिए जद्दोजहद की थी उसका फल हमको मिला। उस ख़ुशी मे हमारा मुल्क आजाद हुआ हम सब मजहब वाले अपने अपने त्यौहारों को ख़ुशी से मनाते हैं और जो पहले अंग्रेज था उसने गुलाम बना रखा था वो सब मजहब वालों पर जुल्म करता था उसे देश सें निकाला, उसकी ख़ुशी के इजहार मे हमने 15 अगस्त मनाया। 

तलबा को भी हमने ये बतलाया की पहले हमारा मुल्क गुलाम था उस गुलामी से आजादी मिली और हमको अपनी आजादी सें रहने का तरीका मिला और आजादी से हम अपने मजहब की तालीम हासिल करते  हैं  और अपने  त्यौहार आजादी से मनाते हैं। ये बड़ी ख़ुशी का दिन है इस लिए हमने झंडे लहराये हैं. हम तो पहले सें ही आजादी का पर्व मनाते आये हैं।

(Reported By Naagar Bharadwaj, Edited By Alok Mishra)

Tags

Share this story