Money Saving Tips: पति-पत्नी साथ मिलकर करें धन की बचत, जानें 5 अहम टिप्स  

जब पति-पत्नी मिलकर बचत करते इस हैं या वित्तीय लक्ष्यों के लिए रणनीति बनाते हैं, तो प वे आर्थिक रूप से ज्यादा ख़ुश रहते हैं. जिंदगी से ज जुड़े सभी फैसले पति-पत्नी एक साथ मिलकर हो लेते हैं, लेकिन जब ख़चों और बचत की बात आती है तो वे पीछे रह जाते हैं.
 
Money Saving Tips
Pixabay

Money Saving Tips: अकेले घर का खर्च उठाना पुरुष के लिए थोड़ा मुश्किल होता है. सारे खर्चों से उसे ही निपटना पड़ता है. परंतु अगर पत्नी भी नौकरी करती है और समान रूप से हिस्सेदारी निभाती है तो खर्चे वहन करने के साथ-साथ बचत भी की जा सकती है. जब पति-पत्नी मिलकर बचत करते इस हैं या वित्तीय लक्ष्यों के लिए रणनीति बनाते हैं, तो प वे आर्थिक रूप से ज्यादा ख़ुश रहते हैं. जिंदगी से ज जुड़े सभी फैसले पति-पत्नी एक साथ मिलकर हो लेते हैं, लेकिन जब ख़चों और बचत की बात आती है तो वे पीछे रह जाते हैं. कुछ तरीक़ों और ज तरकीबों से इसकी शुरुआत कर सकते हैं.पति-पत्नी साथ मिलकर अपनी जिंदगी संवारते हैं और अपनी ख़्वाहिशों को पूरा करने की कोशिश करते हैं. पर जब बात आती है बचत की तो वे इस मामले में अक्सरपीछे रह जाते हैं. आपसी सहमति और समझदारी से इसमें सफलता मिल सकती है. 

बजट से शुरूआत करें 

पति-पत्नी साथ बैठकर अपने एक-एक प‍ ख़र्च की सूची तैयार करें. इसमें हर छोटे से छोटे खर्च को शामिल करना है. इसके लिए घ आपको कम से कम आधा-एक घंटा तो देना ही क होगा. हर हफ़्ते यानी शनिवार या रविवार को दोनों न साथ बैठकर बजट की समीक्षा करें. इससे पता चलेगा कि आपने जो बजट तय किया है उसके व अनुसार आप चल रहे हैं या नहीं.

बचत की रेस लगाएं 

हर महीने दंपती पैसे बचाने और ख़र्च कम करने की रेस लगा सकते हैं. इसके लिए दोनों एक-एक बॉक्स अपने पास रखें. पति और पत्नी को अपने-अपने बॉक्स में पैसे जमा करने हैं. पैसे किसी ख़रीदारी में बचाए हुए हो सकते हैं या अतिरिक्त खर्चों को रोककर जोड़े जा सकते हैं. महीने के अंत में जिसने ज्यादा धन जोड़ा वो जीत जाएगा. हर महीने ये धन राशि अपने-अपने बैंक के खाते में जमा कर दें. 

एक ख़र्च करे, दूसरा बचाए 

पति-पत्नी की आय बराबर हो ऐसा जरूरी नहीं. ऐसे में जिसकी आय ज्यादा है उसे घर और निजी खर्च के लिए रखें, जिसकी आय कम है उसे सुरक्षित कर सकते हैं. ऐसा मुमकिन नहीं है तो दोनों की आय की आधी-आधी रक्कम बचत के लिए और आधी खर्च के लिए इस्तेमाल की जा सकती है. लेकिन ध्यान रखें कि आधी आय बचत के रूप में सुरक्षित करनी ही है. 

एक-दूसरे से छुपाएं नहीं 

सेविंग अकाउंट है और दोनों ने उससे कुछ ख़रीदा है तो एक-दूसरे को अवश्य. बताएं, कुछ छुपाएं नहीं. छोटे-छोटे ख़र्च भी छुपाएंगे तो इसका असर बजट पर पड़ेगा. इस बात का भी ध्यान रखें कि अगर क्रेडिट कार्ड है तो उसका इस्तेमाल कम या न ही करें. क्रेडिट कार्ड से आप वो सामान ख़रीदते हैं जिनका भुगतान किया नहीं है. यह एक तरह का उधार है, और उधार किसी भी रूप में सही नहीं है. 

यहां समझदारी दिखाएं 

जन्मदिन या शादी की सालगिरह पर एक-दूसरे को क़ीमती उपहार देना अपने आप में बड़ा ख़र्च हो जाता है. इसके बजाय आप निवेश करने में थोड़ी समझदारी दिखा सकते हैं. क्योंकि कई जगह महिलाओं को निवेश करने में टैक्स छूट मिलती है, जैसे कि घर. अगर आप ऐसी जगह निवेश करने जा रहे हैं तो पत्नी के नाम से निवेश कर सकते हैं.

Tags

Share this story