MotoGP Race 2023, Greater Noida: सीएम योगी ने बनाई योजना! कितने आएंगे दर्शक, कितने की है टिकट?

तीन दिनों में कुल 20 विभिन्न रेसिंग इवेंट्स का आयोजन होगा, जिसमें मुख्य स्पोर्टिंग इवेंट के तहत फाइनल रेस 24 सितंबर को होगी।
 
MotoGP Race 2023, Greater Noida
Image credits: Wikimedia Commons

MotoGP Race 2023, Greater Noida: उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में आज से मोटो जीपी रेसिंग की धूम मचेगी। बुद्ध इंटरनेशनल सर्किट में शुरू होने वाली मोटो जीपी भारत बाइक रेस इवेंट की सभी तैयारी पूरी हो गई हैं। इस ग्लोबल रेसिंग इवेंट में लगभग 1.5 लाख लोग प्रति दिन शामिल होंगे। विदेश से 10,000 व्यक्तियों की भागीदारी संभावित है जो इस इवेंट में शामिल होंगे। 200 देशों में इस इवेंट का प्रसारण होगा और इस इवेंट से जुड़े टिकट्स 800 से लेकर 1.80 लाख रुपये तक की मूल्य सीमा में बिक रहे हैं। इन तीन दिनों में कुल 20 विभिन्न रेसिंग इवेंट्स का आयोजन होगा, जिसमें मुख्य स्पोर्टिंग इवेंट के तहत फाइनल रेस 24 सितंबर को होगी। इस इवेंट का प्रसारण पूरी दुनिया में 45 करोड़ से अधिक दर्शकों को मिलेगा।

इस इवेंट में शामिल राइडर्स ने गुरुवार को बुद्ध इंटरनेशनल सर्किट पर आयोजित प्रशिक्षण सत्र में भी भाग लिया। इस इवेंट में रेडबुल, शेल, बी-विन, बीएमडब्ल्यू, ओकले, मॉन्सटर, मोटुल, टिसॉट, रेपसॉल, पोलिनी, गो प्रो, हौन्डा, मिशेलिन, एमेजॉन, डीएचएल व पेट्रोनॉस जैसी 275 विशेषज्ञ कंपनियां किसी ना किसी रूप में इस इवेंट में शामिल हैं। इन कंपनियों के सीईओ भी इस इवेंट में भाग लेने आ रहे हैं। मोटो जीपी की छवि एक ऐसे समृद्ध खेल की है, जिसे न केवल बड़ी संख्या में प्रशंसकों का समर्थन है, बल्कि दुनिया भर की बड़ी ब्रांड्स भी इसे महत्वपूर्ण मानते हैं। कुछ सालों में इस खेल ने होस्ट देशों की अर्थव्यवस्था में भी बड़ा योगदान दिया है।

सीएम योगी टॉप कंपनियों के CEO संग करेंगे बैठक

अंतरराष्ट्रीय रेस आयोजन को शानदार और सफल बनाने के लिए सरकार ने पूरी कोशिश की है। इस आयोजन के साथ-साथ, योगी सरकार प्रदेश में बड़े पैमाने पर निवेश की संभावनाओं की खोज कर रही है। इसलिए, मुख्यमंत्री योगी शनिवार, 23 सितंबर को 'मोटो जीपी भारत' के लिए आ रही श्रेष्ठ कंपनियों के सीईओ के साथ एक राउंड टेबल कॉन्फ्रेंस (सीईओ कॉन्क्लेव) आयोजित करेंगे। इस कार्यक्रम के माध्यम से योगी सरकार ब्रांड उत्तर प्रदेश को चमकाने की कोशिश में है।

बैठक में मुख्यमंत्री योगी उत्तर प्रदेश की समृद्धि, उभरते बाजार, इंफ्रास्ट्रक्चर, कनेक्टिविटी समेत अन्य विशेषताओं और संभावनाओं से रूबरू कराएंगे। यह आयोजन खुद भी उत्तर प्रदेश की ब्रांडिंग का माध्यम बनेगा और प्रदेश की मजबूत आर्थिक स्थिति का स्नैपशॉट प्रस्तुत करेगा।


 


 

Tags

Share this story