VIP कल्चर खत्म, जनता दरबार में डीएम से मिलने के लिए टोकन सिस्टम लागू

Janata Darbar : गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा के दरबार में अब से नियम बदल गया है। चाहें सिफारिशी हों या वीआईपी सब नियम सभी के लिए एक समान होंगे। क्योंकि डीएम वर्मा ने वीआईपी कल्चर को पूरी तरह से बंद करते हुए एक नया नियम लागू कर दिया है। 
 
Janata Darbar
Image Credit : TVN

जनता दरबार के समय अक्सर देखा जाता है कि सिफ़ारिशी या वीआईपी लोगों को सबसे पहले अधिकारी से मुलाकात करने की मंजूरी दी जाती है। फिर भले ही अधिकारी के दफ़्तर के बाहर कितने ही फ़रियादी लाइन में बैठकर अपना नंबर आने का इंतजार कर रहे हो। लेकिन गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा के दरबार में अब से नियम बदल गया है। चाहें सिफारिशी हों या वीआईपी सब नियम सभी के लिए एक समान होंगे। क्योंकि डीएम वर्मा ने वीआईपी कल्चर को पूरी तरह से बंद करते हुए एक नया नियम लागू कर दिया है। आइए जानते हैं कि वह नियम क्या है। 

फ़रियादी और वीआईपी के लिए सुविधा खत्म

नये नियम के मुताबिक़, सुबह 10 बजे से 12 बजे तक जनता दरबार के समय जिलाधिकारी से मिलने के लिए लोगों को लंबी लाइन नहीं लगानी पड़ेगी। इसके अलावा आम फ़रियादी और वीआईपी दोनों के लिए अलग-अलग सुविधा नहीं होगी। जो पहले आएगा, वह डीएम मनीष कुमार वर्मा से मिलकर अपनी समस्या बता सकता है। इसको लेकर नए नियम लागू कर दिए गए हैं।

सभी के लिए टोकन व्यवस्था लागू 

जानकारी के मुताबिक, ग्रेटर नोएडा के सूरजपुर में स्थित जिलाधिकारी कार्यालय में डीएम से मिलने के लिए लोगों की लंबी लाइन लगी रहती है। सुबह 10 बजे से लेकर 12 बजे तक सैकड़ों की संख्या में लोग जिलाधिकारी से मिलने आते हैं, लेकिन सभी लोगों की मुलाकात नहीं हो पाती है। बताया जाता है कि कुछ वीआईपी लोग सीधे डीएम कार्यालय में एंट्री कर मुलाकात कर लेते हैं, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। मुलाक़ात के लिए डीएम ने अब टोकन व्यवस्था लागू करवा दी है। 

डीएम से मिलने के लिए नहीं लगना होगा लाइन में 

बता दें कि डीएम ने अपने ऑफिस के बाहर एक कर्मचारीं को हेल्प डेस्क पर नियुक्त कर दिया है, जिसका काम होगा कि जो फ़रियादी ज़िलाधिकारी से मिलने आएगा वह उसको एक टोकन उपलब्ध करवाएगा जिसपर उसकी मुलाक़ात का नंबर अंकित होगा। टोकन सभी को दिया जाएगा फिर चाहे वो आम फ़रियादी हो या फिर कोई वीआईपी। टोकन व्यवस्था से जो पहले आएगा, वह पहले जिलाधिकारी से मिल सकेगा। इसके अलावा जिलाधिकारी से मिलने के लिए किसी को लाइन में लगना नहीं पड़ेगा।

Tags

Share this story