SDM Responsibilities: एसडीएम के बड़े पद के साथ आती हैं बड़ी जिम्मेदारियां, यहां जाने विस्तार में

 
SDM
SDM Suresh Km | Facebook

SDM Responsibilities: एसडीएम जिसे डिवीजन मजिस्ट्रेट भी कहा जाता है जिला अधिकारी के बाद सबसे ताकतवर अधिकारी माना जाता है. जिलाधिकारी की गैरमौजूदगी में एसडीएम को ही पूरी कमान संभालनी   पड़ती है. यह एक प्रशासनिक पद होता है जो असिस्टेंट मजिस्ट्रेट के रूप में जाना जाता है. एसडीएम उप मजिस्ट्रेट के अंदर अपनी जिम्मेदारियां निभाता है और एक उपनिबंधक मजिस्ट्रेट के रूप में कार्यवाही करने की पावर या अधिकार रखता है. डीएम की अनुपस्थिति में एसडीएम लॉ एंड ऑर्डर कायम  करने की पावर रखता है.

एसडीएम बनने के लिए क्या पढ़ाई करनी पड़ती है?

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि एसडीएम बनने के लिए आपको राज्य स्तर की सिविल सेवा परिक्षा को उत्तीर्ण करना होता है. वहीं डीएम बनने के लिए आपको यूपीएससी सिविल परीक्षा को पास करना होता है. आपको बता दें कि देश के हर राज्य का एक आयोग होता है जो सिविल परिक्षा का आयोजन कराता है. इसमें UPPSC, BPSC, RPSC जैसी परिक्षाएं शामिल हैं. इन राज्य स्तर की परिक्षाओं को पास करने वाला एसडीएम पद पर नियुक्त किया जाता है. इन परिक्षाओं में बैठने के लिए आपको पास किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी या कॉलेज से बैचलर डिग्री होना अनिवार्य है.

एसडीएम की क्या पावर होती है?

अब एसडीएम की शक्तिओं के बारे में बात करें तो जैसे डीएम या जिला अधिकारी पूरे जिले का सर्वेसर्वा माना जाता है और पूरे जिले के काम काज और निगरानी रखता है तो वहीं एसडीएम जिले के उपखंडों को संभालने या उनके कामकाज पर नज़र रखता है. एसडीएम डीएम के अधीन काम करता है. इसके बाद एसडीएम 1973 की आपराधिक प्रक्रिया संहिता और बाकी छोटी कार्रवाइयों के तहत अलग-अलग मजिस्ट्रेटी कार्यों को संपूर्ण करता है. इसके अलावा SDM का अपने अनुमंडल के तहसीलदारों पर पूरा कंट्रोल होता है. इसके साथ एसडीएम अपने अनुमंडल के जिला अधिकारी और तहसीलदार दोनों के बीच एक कड़ी के रूप में भी कार्य करता है. इसके बाद वह लॉ एंड ऑर्डर को भी बनाएं रखने का काम करता है.

एसडीएम को कितनी सैलरी और सुविधाएं दी जाती हैं.

आब एसडीएम की सैलरी की बात करें तो एक एसडीएम को पे बैंड 9300 से 34800 में ग्रेड पे 5400 के साथ वेतन दी जाती है. SDM का वेतन 56,100 रुपए से शुरू होती है. वेतन के साथ-साथ एसडीएम को कई सारे भत्ते और सुविधाएं भी प्रदान कराई जाती हैं. इसमें बिना किराए पर एसडीएम और परिवार के लिए निवास, सुरक्षा गार्ड और घरेलू नौकर जैसे रसोइया और माली, एक आधिकारिक वाहन, एक टेलीफोन कनेक्शन दिया जाता है. वहीं बिजली बिल और टेलीफोन बिल का भुगतान सरकार द्वारा किया जाता है. राज्य में आधिकारिक यात्राओं के दौरान प्रथम श्रेणी आवास की सुविधा, उच्च अध्ययन के लिए अवकाश के साथ ही पति व पत्नी को पेंशन की सुविधा भी प्रदान कराई जाती है.

Tags

Share this story