Ganesh chaturthi 2023: गणपति बप्पा का उत्सव इन 5 पकवानों के बिना रहता है अधूरा, जान लें... 

गणेश चतुर्थी के पहले दिन सब लोग अपने घरों में गणपति जी की स्थापना करते हैं और 10 दिनों तक गणपति बप्पा विधि-विधान से आराधना करते हैं.
 
Ganesh chaturthi 2023
Image Credit:- wikimedia commons

Ganesh chaturthi 2023: कुछ ही दिनों में गणेश चतुर्थी (Ganesh chaturthi) का पर्व बेहद धूमधाम के साथ मनाया जाएगा. इस बार 19 सितंबर को गणेश चतुर्थी मनाई जाएगी. गणेश चतुर्थी वाले दिन विशेष तौर पर गणेश जी की उपासना की जाती है. गणेश चतुर्थी का पर्व पूरे 10 दिनों तक मनाया जाता है.

गणेश चतुर्थी के पहले दिन सब लोग अपने घरों में गणपति जी (Ganpati ji) की स्थापना करते हैं और 10 दिनों तक गणपति बप्पा विधि-विधान से आराधना करते हैं. इसके बाद गणपति विसर्जन की परंपरा निभाई जाती है. गणेश चतुर्थी वाले दिन घरों में अनेक प्रकार के पकवान आदि बनाए जाते हैं.

ऐसे में हमारे आज के इस लेख में हम आपको पांच उन पकवानों के बारे में बताएंगे, जोकि गणेश चतुर्थी पर बनाना बेहद जरूरी माना जाता है. यह भी कह सकते हैं कि इन पकवानों के बिना गणेश चतुर्थी का पर्व अधूरा रहता है, तो चलिए जानते हैं... 

गणेश चतुर्थी पर बनने वाले मुख्य पकवान

  •  गणेश चतुर्थी वाले दिन भगवान गणेश को प्रिय पूरनपोली का भोग अवश्य लगाया जाता है. यह एक प्रकार का मीठा पराठा होता है जो कि गणेश जी को  काफी पसंद है.
  •  गणेश उत्सव वाले दिन आपको घर पर खजूर के लड्डू भी बनाना चाहिए, गणेश चतुर्थी वाले दिन इनका भोग लगाना भी जरूरी माना जाता है.
  •  गणेश चतुर्थी वाले दिन विशेष तौर पर मालपुआ बनाया जाता है. गणेश जी को मालपुआ बेहद प्रिय है और गणपति स्थापना वाले दिन मालपुआ बनाना आवश्यक होता है.
  •  गणपति बप्पा की चतुर्थी तिथि को आप उन्हें श्रीखंड का भोग भी लगा सकते हैं. यह चीनी और दही के प्रयोग से बनाया जाता है. जिसे गणेश जी को अर्पित करके उनका आशीर्वाद कर सकते हैं.
  •  गणेश चतुर्थी वाले दिन आपको खसखस का हलवा भी अवश्य बनाना चाहिए, इसे बनाना भी बेहद आवश्यक और जरूरी माना जाता है.
  •  गणेश चतुर्थी वाले दिन उपरोक्त पकवान के अलावा आपको गणेश जी को प्रिय मोदक का भोग भी बप्पा को लगाना चाहिए. इससे भी गणपति आपसे बहुत प्रसन्न होते हैं.

ये भी पढ़ें:- गणपति बप्पा को बेहद प्रिय है ये पकवान, तुरंत नोट करें रेसिपी

Tags

Share this story