Pulao and biryani difference: क्या आपको पता है पुलाव और बिरयानी के बीच का अंतर, यदि नहीं तो जान लें... 

कई लोग चावल का पुलाव बनाकर भी खाना पसंद करते हैं और कई लोगों को चावल की बिरयानी भी बेहद पसंद होती हैं.
 
Pulao and biryani difference
Image Credit:- wikimedia commons

Pulao and biryani difference: कई लोगों को रोटी से ज्यादा चावल पसंद आते हैं. जिस वजह से लोग दाल चावल, राजमा चावल, कढ़ी चावल खाना काफी पसंद करते हैं. कई लोग चावल का पुलाव (Pulao) बनाकर भी खाना पसंद करते हैं और कई लोगों को चावल की बिरयानी भी बेहद पसंद होती हैं.

ऐसे में यदि आप भी चावल के शौकीन हैं, तो क्या आप जानते हैं कि पुलाव और बिरयानी (Biryani) में क्या अंतर है, यदि नहीं तो हम आज आपको इन दोनों के बीच का अंतर बताने वाले हैं. आइए जानते हैं... 

पुलाव और बिरयानी के बीच अंतर

  • पुलाव का सेवन सबसे पहले तुर्की लोगों ने किया था, उसके बाद भारतीय लोग बेहद चाव से पुलाव खाने लगे, जबकि बिरयानी मुगलों और नवाबों का लजीज व्यंजन है.
  • पुलाव को बनाने में कम मसालों जैसे तेजपात, लौंग और इलायची का प्रयोग किया जाता है, तो वही बिरयानी को बनाने में मुगलई मसाले प्रयोग किए जाते हैं. बिरयानी बनाने में इलायची, कर्णफूल जायफल, शाही जीरा, केसर, दालचीनी, लौंग, जावित्री आदि का इस्तेमाल किया जाता है.
  • बिरयानी शाकाहारी और मांसाहारी दोनों प्रकार की बनाई जा सकती हैं, जबकि पुलाव केवल शाकाहारी होता है.
  • बिरयानी बनाने के लिए उसे गैस की हल्की आंच पर काफी समय तक रखना पड़ता है, जबकि पुलाव को मध्यम आंच पर कम समय के लिए पकाया जाता है.
  • बिरयानी को बनाने में काफी समय लगता है, जबकि पुलाव को कम समय में तैयार किया जा सकता है.
  • कई लोग बिरयानी बनाने के लिए चावल को पीला या नारंगी रंग से रंगते हैं, जबकि पुलाव सफेद चावल का ही बनाया जाता है.
  • बिरयानी बनाने में चावल को अलग से उबालकर रखा जाता है, उसके बाद मसाला बनाया जाता है और प्याज व मीट अलग से तैयार किया जाता है. इसके बाद बिरयानी में मिलाया जाता है, जबकि पुलाव में चावल और सब्जी को एक साथ उबाल लिया जाता है.
  • बिरयानी हमेशा तांबे या लोहे के बर्तन को ढककर बनाई जाती है, तो वहीं पुलाव को बनाने के लिए खुले भगोने का इस्तेमाल भी किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें:- बनाएं हैदराबाद की स्पेशल बिरयानी, अंगुलियां चाटते रह जाएंगे लोग

Tags

Share this story